Microsoft Employees’ Emails Leaked! Russia-Linked Group Blamed

बड़ी खबर! टेक्नो जगत में हंगामा मचा हुआ है, क्योंकि माइक्रोसॉफ्ट ने खुलासा किया है कि उसके कुछ कर्मचारियों के ईमेल हैक किए गए हैं, और इस हरकत के पीछे एक रूस से जुड़ा ग्रुप होने का शक है!

कैसे हुआ ये साइबर-अटैक? (How Did This Cyberattack Happen?)

माइक्रोसॉफ्ट ने बताया कि ये हमला पिछले साल नवंबर में शुरू हुआ था और 12 जनवरी, 2024 को पता चला। हैकर्स ने कंपनी के एक अंदरूनी सिस्टम में सेंध लगाई और उसके बाद “पासवर्ड स्प्रे अटैक” का इस्तेमाल किया, जिसका मतलब है कि उन्होंने कई माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट्स पर एक ही कमजोर पासवर्ड ट्राई किया. इस तरह, वो कुछ कर्मचारियों के ईमेल तक पहुंचने में सफल रहे, जिनमें सीनियर लीडरशिप और साइबर सिक्योरिटी और लीगल टीम के मेंबर्स शामिल थे.

किसने किया ये साइबर-अटैक? (Who Is Behind This Cyberattack?)

माइक्रोसॉफ्ट का दावा है कि इस हमले के पीछे “नोबेलियम” नाम का एक हाई-प्रोफाइल रूसी हैकिंग ग्रुप है, जो पहले भी सोलरविंड्स और डीएनसी हैक्स जैसी बड़ी साइबर चोरियों में शामिल रहा है. रूसी सरकार के इस ग्रुप से जुड़े होने का संदेह है, हालांकि रूस ने इन आरोपों को नकार दिया है.

क्या चुराया गया? (What Was Stolen?)

माइक्रोसॉफ्ट ने जानकारी दी है कि हैकर्स ने “कुछ ही” कर्मचारियों के ईमेल और अटैचमेंट्स चुराए हैं. हालांकि, कंपनी ने फिलहाल यह खुलासा नहीं किया है कि किस तरह की जानकारी लीक हुई है या किसी ग्राहक डेटा या स्रोत कोड तक पहुंच बनाई गई है.

माइक्रोसॉफ्ट क्या कर रहा है? (What Is Microsoft Doing?)

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है कि वो इस साइबर-अटैक की पूरी तरह से जांच कर रहा है और पुराने सिस्टम में सुरक्षा अपडेट्स लगा रहा है. कंपनी ने यह भी कहा है कि वो लॉ एनफोर्समेंट और रेगुलेटर्स के साथ मिलकर काम कर रही है.

इस घटना का क्या मतलब है? (What Does This Mean?)

यह साइबर-अटैक सभी बड़ी टेक कंपनियों के लिए खतरे की घंटी है. इससे पता चलता है कि यहां तक ​​कि सबसे बड़ी और सबसे सुरक्षित कंपनियां भी हैकर्स के आक्रमण से बच नहीं सकती हैं. यह घटना एक बार फिर से ऑनलाइन सुरक्षा के महत्व को दर्शाती है और इस बात पर जोर देती है कि हर किसी को अपने डेटा की रक्षा के लिए कदम उठाने चाहिए.

आखिर में…. (Conclusion)

माइक्रोसॉफ्ट के कर्मचारियों के ईमेल का लीक होना चिंता का विषय है और इससे साइबर सिक्योरिटी को लेकर सवाल उठते हैं. यह देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले हफ्तों और महीनों में इस जांच से क्या निकलकर आता है और माइक्रोसॉफ्ट इस हमले से कैसे उबरता है.

इस लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद! अगर आपके पास कोई सवाल या टिप्पणी है, तो कृपया नीचे कमेंट करें!

WIN 20231206 16 48 16 Pro

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम sangram patil है और में sandhosty.xyz का Owner हूँ, और में  maharatra  का रहने वाला हूँ इस वेबसाइट के माध्यम में mobile news & updates और ब्रेकिंग न्यूज़ आदि जानकारियां पब्लिश करता हूँ में पिछले 2 सालो से mobile news site आदि पोस्ट पब्लिश करने का कार्य कर रहा हूँ